‘स्मार्ट’ नहीं है शिवराज सरकार के दिए हुए स्मार्टफोन

शिवराज सरकार बच्चों को जो स्मार्टफोन दे रही है कि वे महज 512 जीबी रैम के हैं. यानि इन स्मार्टफोन्स की मैमोरी या स्टोरेज क्षमता काफी कम है.

Updated: March 28, 2018, 8:12 PM IST
मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार अपनी एक योजना के तहत प्रदेश के मेधावी बच्चों को हाईटेक और टेक्नोफ्रेंडली बनाने के लिए स्मार्टफोन दे रही है. लेकिन शिवराज सिंह के भांजें-भांजियों  को ये स्मार्ट फोन कतई रास नहीं आ रहे हैं. यंग जनरेशन के इन विद्यार्थियों का कहना है कि आउट डेटेड हो चुके ये स्मार्टफोन उनके किसी काम के नहीं है.

दरअसल, शिवराज सरकार बच्चों को जो स्मार्टफोन दे रही है कि वे महज 512 जीबी रैम के हैं. यानि इन स्मार्टफोन्स की मैमोरी या स्टोरेज क्षमता काफी कम है. ऐसे में स्टूडेंट्स इन स्मार्टफोन्स पर इंटरनेट का बिल्कुल इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं. बाजार में आज 4 जीबी क्षमता के फोन लोकप्रिय हो रहे हैं. ऐसे में 512 एमबी क्षमता का स्मार्टफोन किसी काम का नहीं है. स्टूडेंट्स की ये भी शिकायत है कि ये फोन बार-बार हैंग हो जाते हैं.

सरकारी योजना के तहत इन स्मार्ट फोन्स को हासिल करने के लिए भी बच्चों को काफी इंतजार करना पड़ा था. इन स्मार्ट फोन्स के वितरण के पीछे सरकार की मंशा थी कि इनफर्मेशन टेक्नोलॉजी के इस दौर में प्रदेश के मेधावी बच्चे इंटरनेट सहित संपूर्ण सूचना क्रांति का लाभ उठा सके. किसी भी विषय से संबंधित जानकारी विद्यार्थियों को उनके मोबाइल पर ही तुरंत उपलब्ध हो सके. लेकिन जिस प्रकार के फोन सरकार ने विद्यार्थियों को दिए हैं, उनसे तो ये संभव नहीं है.


Reference: https://hindi.news18.com/news/madhya-pradesh/bhopal-students-not-happy-with-smartphone-given-by-government-1320150.html

Image Courtesy: Same as above

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *