मेधावी छात्र योजना से वंचित IIT स्टूडेंट्स

Last Modified – Jul 13, 2018, 03:35 AM IST

डीबी स्टार इंदौर/ग्वालियर

आईआईटी खड़गपुर व आईआईटी मुम्बई जैसे संस्थानों में अध्ययनरत प्रदेश के कई प्रतिभाशाली छात्र राज्य सरकार की मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना के लाभ से वंचित हैं। इसके तहत सरकार ने छात्रों की ट्यूशन फीस देने की घोषणा की थी। लेकिन योजना से जुड़े दस्तावेज आईआईटी संस्थानों से डायरेक्टर तकनीकी शिक्षा के बीच चल रहे पत्राचार में उलझ गए हैं।

वर्ष 2016 में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल के लाल परेड मैदान पर मेधावी विद्यार्थी प्रोत्साहन समारोह में घाेषणा की थी। उन्होंने कहा था कि प्रदेश के जिन छात्रों के बारहवीं की परीक्षा में 75 प्रतिशत अंक और गेट टेस्ट में 50 हजार के अंदर रैंक आई है, उन्हें सरकार की तरफ से आईआईटी के लिए टयूशन फीस प्रदान की जाएगी। सीएम की घोषणा के बाद प्रदेश के 50 से अिधक छात्रों ने इस योजना के लिए आवेदन किया लेकिन डायरेक्टर तकनीकी शिक्षा कार्यालय व आईआईटी संस्थानों के अफसरों के बीच समन्वय न होने के कारण अब तक इन छात्रों को फीस का पैसा नहीं मिल सका है। इनके परिजन बैंक लोन या खुद की जमा पंूजी से फीस भरने को मजबूर हैं। छात्रों की शिकायत पर जब डीबी स्टार ने तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री दीपक जोशी से बात की। इस बारे में उन्होेंने शीघ्र पैसा दिलाने का आश्वासन दिया है।

हम खुद भर रहे हैं फीस

 मेरे बेटे ने इंटर में 80 प्रतिशत अंक प्राप्त करने के साथ गेट में अंडर 2 हजार रैंक प्राप्त की है। इसके बाद भी बेटे को मेधावी विधार्थी योजना का लाभ नही मिल रहा है। बेटा आईआईटी खडगपुर में पढ़ रहा है। उसकी साल भर की फीस 3 लाख रुपए है जो अभी हमने भरी है। इस मामले में आईआईटी खडगपुर व तकनीकी शिक्षा विभाग के अफसरोें से लाभ दिए जाने के लिए कहा है। राकेश शर्मा, शिकायतकर्ता

तीन से चार लाख है फीस

आईआईटी की सालाना फीस 3 से 4 लाख रुपए है। वर्ष 2016 -2017 में छात्रों को योजना का लाभ नहीं मिला है। वे परेशान हैं, क्योंकि संस्थान की फीस उन्हें खुद भरनी पड़ रही है।

छह लाख से कम सालाना आय

इस योजना में एमपी बोर्ड से 12वीं की परीक्षा में 75 प्रतिशत और सीबीएसई 12वीं में 85 प्रतिशत या उससे अधिक अंक लाने वाले छात्रों को लाभ दिया जा रहा है। लेकिन छात्रों के परिवार की सालाना आय छह लाख से कम होना चाहिए।

योजना का लाभ दिया जाएगा

 आईआईटी संस्थानों के मेधावी छात्रों को योजना का लाभ क्यों नहीं मिल रहा इसकी जानकारी विभाग के अफसरों से लेंगे। जिन छात्रों को योजना का लाभ नहीं मिल रहा है उनकी समस्या का समाधान किया जाएगा। दीपक जोशी, राज्यमंत्री, तकनीकी शिक्षा, मप्र


Reference: https://www.bhaskar.com/mp/indore/news/latest-indore-news-033503-2178568.html

Image Courtesy: Same As Above

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *