मध्यप्रदेश में 51 हजार पेंशन खाते डुप्लीकेट मिले, हर महीने दो बार ट्रांसफर हाे रहा था पैसा

मामला पकड़ में आने के बादविभाग ने राशि वसूलने के लिए संबंधित बैंकों को लिखा है।

 Last Modified – Jun 08, 2018, 04:43 AM IST

  • इन खातों में पिछले दो साल में 2 करोड़ रु. से ज्यादा ट्रांसफर किए गए
  • सभी हितग्राहियों से होगी वसूली, पैसा नहीं लौटाने पर खाते ब्लॉक होंगे
भोपाल.  सामाजिक न्याय और नि:शक्तजन कल्याण विभाग ने जांच में प्रदेश में ऐसे करीब 51 हजार (50,746) पेंशन हितग्राहियों के बचतखाते पकड़े हैं, जिनमें पेंशन की राशि दो या उससे अधिक बार ट्रांसफर की जा रही थी। यानी इन सभी खातों में डुप्लीकेसी थी। हितग्राही की एक से ज्यादा समग्र आईडी बताकर दो पेंशन का लाभ लेते रहे। जबकि एक हितग्राही एक पेंशन का लाभ ले सकता है। इन खातों में पिछले दो साल में 2 करोड़ रु. से ज्यादा ट्रांसफर किए गए। फिलहाल मामला अब पकड़ में आया है। विभाग ने राशि वसूलने के लिए संबंधित बैंकों को लिखा है। यदि हितग्राही अतिरिक्त पेंशन राशि को वापस नहीं करते हैं तो विभाग उनके खाते ब्लॉक करेगा। साथ ही उनकी पेंशन भी रोक  देगा।
37 लाख लोगों को विभाग कर रहा पेंशन भुगतान
ऐसे सामने आया मामला : विभाग 37 लाख से अधिक पेंशन हितग्राहियों को सिंगल क्लिक पेंशन योजना से भुगतान करता है। विभाग ने इसके लिए हितग्राहियों के खातों की जांच करवाई। इसमें 50 हजार 746 डुप्लीकेट बचत खाते पाए गए। विभाग के प्रमुख सचिव अशोक शाह ने सभी कलेक्टर्स और विभिन्न निकायों के सीईओ को जांच कर संबंधितों के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश भी दिए।  जांच में ऐसे बचत खाते भी मिले, जो जनपद पंचायत और नगरीय निकायों में दर्ज हैं। इन दोनों जगह की समग्र आईडी होने से हितग्राही दोनों स्थानों की पेंशन ले रहे थे।
पेंशन पोर्टल पर अब हितग्राही का सिर्फ एक ही खाता रहेगा
शाह ने कलेक्टर्स को लिखे पत्र में कहा कि जनपद पंचायत और नगरीय निकायों द्वारा पेंशन स्वीकृति और बचत खाता अपडेशन का काम गंभीरता से नहीं किया गया। अब बचत खाता नंबर के आधार पर हितग्राही को सर्च कर भौतिक सत्यापन किया जा रहा है। पेंशन पोर्टल पर हितग्राही का केवल एक ही बचत खाता रहेगा।
राशि वसूलने के लिए संबंधित बैंकों को लिखा
सामाजिक न्याय विभाग उपसंचालक मनोज बाथम के मुताबिक, 90 वर्ष से अधिक आयु के पेंशन हितग्राहियों का भौतिक सत्यापन चल रहा है। रिपोर्ट आती जा रही है। जिन डुप्लीकेट खातों में ज्यादा राशि गई है उसके लिए बैंकों को लिखा गया है। इस राशि का अगली पेंशन राशि में समायोजन किया जाएगा।
पेंशनर्स की संख्या
इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना 18,73,128
इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन योजना 10,19,982
इंदिरा गांधी राष्ट्रीय नि:शक्तजन पेंशन योजना 1,16,759
मंदबुद्धि/बहुविकलांग को आर्थिक सहायता 70,383
कन्या अभिभावक पेंशन योजना 47,312
सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना 6,50,129

Reference: https://www.bhaskar.com/mp/bhopal/news/duplicate-pension-accounts-found-in-madhyapradesh-5890228.html

Image Courtesy: Same As Above

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *