जिस सडक़ पर पांच साल की गारंटी वह पांच दिन भी नहीं चली

Publish: Jun, 29 2018 09:37:56 PM (IST)                            Narsinghpur, Madhya Pradesh, India

मुख्यमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत एनएच 26 से मेरेगांव तक 53.19 लाख की लागत से बनाई गई सडक़ हुई जर्जर

नरसिंहपुर। मुख्यमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत जिस सडक़ पर ५ साल की गारंटी दी गई वह सडक़ जब भारतीय जनता पार्टी के जिला महामंत्री ने बनाई तो वह ५ दिन भी नहीं चल सकी। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि जिले में भाजपा से जुड़े कुछ लोग किस तरह शासन, प्रशासन पर अपने रसूख का इस्तेमाल गुणवत्ता नियमों को ताक पर रख घटिया निर्माण करा रहे हैं। खास बात यह है कि संबंधित अफसर ठेकेदार पर कोई कार्रवाई करने की बजाय अनियमितताओं पर पर्दा डालने में लगे हैं।

करेली क्षेत्र में ग्राम पंचायत कोदसा के अंतर्गत मेरेगांव में मुख्यमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत एनएच 26 से मेरेगांव तक 53.19 लाख की लागत से हाल ही में 1.905 किलोमीटर सडक़ का निर्माण किया गया है। सडक़ का निर्माण भारतीय जनता पार्टी के जिला महामंत्री अभिलाष मिश्रा ने कराया है। लगभग 2 किलोमीटर की इस सडक़ के डामरीकरण के लिये विभाग द्वारा 1 वर्ष की समयावधि तय की गई थी परंतु 31 दिसम्बर 2018 को पूर्ण होने वाला कार्य 6 माह की देरी से 23 जून 2018 को पूर्ण हो सका। 23 जून को बनकर तैयार हुई इस सडक़ पर पांच साल की गारंटी दी गई है पर यह पांच दिन भी नहीं चल सकी। पांच दिन में ही इसकी हालत ऐसी हो गई जैसे सडक़ भूकंप का प्रकोप झेल गई हो। कई जगह इसमें दरारें पड़ गई हैं तो कहीं यह टुकड़ों में बंटी नजर आती है। खास बात यह है कि इस सडक़ पर हैवी या ओवरलोड वाहन भी नहीं गुजरते जिससे सडक़ को नुकसान होने की आशंका हो। एक ओर प्रदेश के मुखिया प्रदेश की सडक़ों को अमेरिका की सडक़ों से बेहतर बताते हैं वहीं दूसरी ओर उनकी ही पार्टी के लोग सडक़ों की गुणवत्ता को लेकर उन्हेंं आइना दिखा रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि लम्बे समय से बहुप्रतीक्षित सडक़ के निर्माण की स्वीकृति मिल पाई थी लेकिन इस तरह के घटिया निर्माण के चलते उनमें आक्रोश है। ग्रामीणों की मांग है कि इस तरह के घटिया निर्माण को लेकर सम्बंधित विभाग के अधिकारियों व ठेकेदार के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। मजे की बात यह है कि मुख्य मंत्री ग्रामीण सडक़ विभाग के अफसरों द्वारा ठेकेदार पर कार्रवाई करने और क्वालिटी कंट्रोल पर ध्यान दिए जाने की बजाय यह तर्क दिया जा रहा है कि किसी किसान द्वारा कल्टीवेटर गिराए जाने से सडक़ खराब हो गई होगी।

वर्जन
एनएच 26 से मेरेगांव तक बनाई गई सडक़ में दस मीटर के एरिया में किसी किसान द्वारा कल्टीवेटर गिरा दिया गया था जिसकी वजह से सडक़ क्षतिग्रस्त हो गई है उसमें रिपेयरिंग के लिए संबंधित ठेकेदार से कहा गया है।

एसके श्रीवास्तव, जीएम, मध्यप्रदेश ग्रामीण सडक़ विकास प्राधिकरण
——–
वर्जन
सडक़ का एक हिस्सा प्राकृतिक कारणों से धंस गया है, उसे रिपेयर कराया जा रहा है, जहां तक गुणवत्ता का सवाल है तो अच्छे और गुणवत्तापूर्ण निर्माण कार्यों के लिए मुुझे सरकारी एजेंसियों द्वारा पुरस्कृत किया जा चुका है।
अभिलाष मिश्रा, ठेकेदार एवं जिला महामंत्री भाजपा
——————-


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *