कैंसर रोग में भी नहीं मिल रही मदद, बीपीएल कार्ड बना रोड़ा

 Last Modified – Jan 01, 2016, 03:21 AM IST

मैं यह लड़ाई दो साल से लड़ रहा हूं कि सही व पात्र व्यक्तियों के तो बीपीएल कार्ड प्रशासन बना दें। जिससे आज जो परेशान लोग हैं उन्हें सहायता मिल सके। मैं सरकार से मांग करूंगा कि बीमारी के हिसाब से सहायता का प्रावधान किया जाए और बीपीएल की अनिवार्यता समाप्त हो। रामसिंह यादव, विधायक, कोलारस

यह नियम हमने नहीं बनाए

राज्य बीमारी सहायता निधि में बीपीएल कार्ड वाले व्यक्ति को ही आर्थिक सहायता का प्रावधान है। यह नियम हमने नहीं बनाए। ऊपर स्तर से ही यह नियम बने हैं। जो बीमार होते हैं हमने उनसे कह देते हैं कि वह बीपीएल बनवा ले। अब जो कुछ होना है शासन स्तर पर ही होना है। डॉ विष्णु दत्त खरे, सीएमएचओ, शिवपुरी

मदद नहीं मिल पा रही

मेरे पति को कैंसर है लेकिन पैसे की कमी के कारण इलाज नहीं मिल पा रहा। हमारे हाथ में जो पैसा था वह लगा दिया। बीपीएल कार्ड न होने पर राज्य बीमारी सहायता निधि से मदद नहीं मिल पा रही। हमारी मांग है कि हमारी परिस्थितियों को देखते हुए बीपीएल कार्ड बनाया जाए। नीलम सोनी ,निवासी कस्टम गेट शिवपुरी

केस 3

केस 2

केस 1

कोलारस के जूर गांव के गरीब मेहरबान सिंह जाटव पुत्र चेतू जाटव को कैंसर जैसी घातक बीमारी ने घेर रखा है। खेती किसानी का काम करने वाले मेहरबान सिंह जाटव के पास गरीब होने के बाद भी बीपीएल कार्ड नहीं है। मेहरबान ने बताया है कि उसके पास बीपीएल न होने पर सरकार से मदद नहीं मिल पा रही है। सरकारी अस्पताल में चैक अप के लिए गया तो बीपीएल का कार्ड मांगा गया तभी उसे राज्य बीमारी सहायता निधि से राशि मिल पाएगी। अब मेहरबान जाटव अपने बीमार होने के बाद सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगा रहा है।

पुरानी शिवपुरी के वार्ड नंबर 22 में रहने वाले बंटी राठौर के बेटे की तबियत खराब रहती है। चैकअप कराया तो खून में इंफेक्शन होने के कारण डॉक्टर ने 50 हजार रुपए इलाज पर खर्च होने की बात कही। प्रतिदिन मजदूरी कर 200 रुपए कमाने वाले बंटी राठौर के पास मजदूर होने के बाद भी बीपीएल कार्ड नहीं। बंटी का कहना है कि वह चार बार सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगा चुका है लेकिन उसके बच्चे के लिए इलाज में सहायता तभी मिल पाएगी जब उसके पास बीपीएल कार्ड होगा।

जो था वो खर्च कर दिया अब खाने को भी पैसे नहीं

शहर के कस्टम गेट निचला बाजार में रहने वाले शैलेंद्र सोनी को कैंसर जैसी घातक बीमारी ने घेर लिया है। परिवार के पास जो जमा पूंजी थी वह ग्वालियर और भोपाल में इलाज के दौरान खर्च कर दी गई। शैलेंद्र सोनी की पत्‍‌नी नीलम का कहना है कि आज दवा खर्च के लिए भी पैसे नहीं हैं। अब पीडि़त की पत्‍‌नी नीलम सोनी ने इस मामले में कलेक्टर से गुहार लगाते हुए उनकी आर्थिक स्थिति खराब होने पर बीपीएल कार्ड बनाने की गुहार लगाई है जिससे उन्हें राज्य बीमारी सहायता निधि से राशि मिल सके। राज्य बीमारी सहायता में बीपीएल कार्ड होना जरूरी है। बीपीएल कार्ड न होने से शैलेंद्र सोनी को वर्तमान में सरकार से मदद नहीं मिल पा रही है।

राज्य बीमारी सहायता में बीपीएल कार्ड होना जरूरी कई गरीबों पर नहीं कार्ड

रंजीत गुप्ता, शिवपुरी।

ऐसे कई गरीब और आर्थिक रूप से कमजोर व्यक्ति हैं जो कैंसर, हृदय रोग, थैलेसीमिया जैसी गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं लेकिन इन लोगों को सरकार से मदद नहीं मिल पा रही है। कारण यह है कि इन लोगों के पास बीपीएल का कार्ड नहीं है। बीपीएल का कार्ड न होने से सरकार द्वारा दी जाने वाली राज्य बीमारी सहायता निधि में इन्हें आर्थिक मदद नहीं मिल पा रही है। सरकार और प्रशासन स्तर से मदद न मिलने पर अब यह गरीब परिवार जो कैंसर जैसी घातक बीमारियों के कारण मौत के मुहाने पर खड़े हैं। पैसों के अभाव में यह गरीब बड़े अस्पतालों में इलाज नहीं करा पा रहे। सरकार के नियम में बीपीएल होना जरूरी है लेकिन बीपीएल न होने से अब यह परिवार तिल-तिल कर मरने को मजबूर हैं।

नियम आ रहे हैं आड़े

मप्र सरकार ने राज्य बीमारी सहायता निधि से केवल बीपीएल परिवारों को ही आर्थिक सहायता का प्रावधान रखा है जिनके पास बीपीएल कार्ड नहीं उन्हें इस योजना में मदद नहीं मिल पाती।

एससी, एसटी के अलावा सामान्य वर्ग में भी कई ऐसे आर्थिक रूप से कमजोर व्यक्ति हैं जिनके पास बीपीएल नहीं। जब इन वर्ग के लोगों को गंभीर बीमारी घेर लेते है तो इलाज में नियम आड़े आ रहे हैं।

राज्य बीमारी सहायता में बीपीएल परिवारों को गंभीर बीमारी में 25 हजार से लेकर 2 लाख रुपए तक की आर्थिक सहायता का प्रावधान है लेकिन बीपीएल न होने से कई परिवार इस पात्रता की श्रेणी में नहीं आ पाते।

इसलिए ऐसे में मांग उठ रही है कि राज्य सरकार से मिलने वाली इस सहायता में बीपीएल कार्ड की अनिवार्यता खत्म कर गंभीर बीमारी के आधार पर सहायता का प्रावधान रखा जाए।


Reference: https://www.bhaskar.com/mp/shivpuri/news/MP-OTH-MAT-latest-shivpuri-news-032120-3325103-NOR.html

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *