किसानों के नाम पर BJP नेताओं की मौज, ‘किसान’ बन करेंगे विदेश की सैर!

January 29, 2018, 6:37 PM IST

मध्य प्रदेश में किसानों के नाम पर बीजेपी नेताओं को सात समंदर पार की सैर कराई जा रही है. फॉरेन स्टडी टूर के नाम पर विदेश जाने वाले किसानों में कई ऐसे नाम शामिल हैं, जो बीजेपी नेताओं के हैं या फिर उनके करीबियों के है. वैसे ऐसा पहली बार नहीं है जब किसानों के फॉरेन स्टडी टूर के नाम पर विदेश भेजे जाने वालों की सूची को लेकर सवाल उठे हों.

दरअसल, राज्य सरकार किसानों को खेती की उन्नत तकनीक सिखाने के नाम पर स्पेन-फ्रांस, आस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड, एमस्टर्डम-तेलअवीब और ब्राजील-अर्जेन्टीना में अलग-अलग 4 टीम बनाकर भेजने जा रही है. हर टीम में 20 नाम शामिल किए गए हैं, पहली टीम इसी साल मार्च में विदेश दौरे के लिए रवाना होगी.

हैरानी की बात ये है कि इन टीमों में किसानों के नाम पर कई बीजेपी नेताओं और उनके करीबियों के नाम शामिल हैं. जिन नेताओं के नाम विदेश जाने वाले किसानों की सूची में शामिल हैं. उनमें

ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड टीम

मुकाम सिंह किराड़े – पूर्व विधायक कुक्षी धार
बाबूलाल ताम्रकार – पूर्व अध्यक्ष जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक विदिशा
मनोरमा अग्रवाल – बीजेपी व्यापारी मंडल की सह-संयोजक जिला अशोकनगर
आशीष गुप्ता – पूर्व पार्षद जिला मंदसौर
आशुतोष शरण तिवारी – बीजेपी ग्रामीण मंडल अध्यक्ष होशंगाबाद
रामकृष्ण रघुवंशी – सांसद प्रतिनिधि विदिशा
राजेश सोलंकी – बीजेपी पार्षद उज्जैन
रमेशचन्द्र सोमानी – बीजेपी ग्रामीण जिला अध्यक्ष इंदौर

ब्राजील-अर्जेन्टीना टीम
कल्पना पंवार – महिला मंडल अध्यक्ष विदिशा

स्पेन-फ्रांस टीम
हेमंत खंडेलवाल – विधायक बैतूल
प्रसन्न हर्णे – अध्यक्ष विवेकानंद मंडल होशंगाबाद पूर्व विधायक मधुकर हर्णे का बेटा
अनिल सोनकर – अध्यक्ष अनुसूचित जाति मोर्चा विदिशा
जयप्रकाश जाट – बीजेपी सहकारी नेता देवास
राजेन्द्र सोनकर – सदस्य दीनदयाल अंत्योदय समिति विदिशा

एमर्स्टडम-तेलअवीब टीम
अश्विन परिहार – जिला मंत्री बीजेपी उज्जैन
जगदीश पवार – अध्यक्ष बीजेपी युवा मोर्चा राजगढ़
नीरज भाटी – महामंत्री भारतीय जनता युवा मोर्चा सीहोर
मनोज कटारे – बीजेपी नेता विदिशा
अजय कुमार तिवारी – बीजेपी नेता विदिशा

विदेश जाने वाले किसानों की सूची में इन नामों के शामिल होने को लेकर अब सियासत भी खूब हो रही है. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान बचाव में पार्टी को किसानों की पार्टी करार दे रही है तो वहीं कांग्रेस ने इस पर सवालिया निशान लगाए हैं.

दरअसल एमपी सरकार ने साल 2013-14 में मुख्यमंत्री किसान विदेश अध्ययन यात्रा की शुरूआत की थी. इस योजना के तहत विदेश जाने वाले किसानों को राज्य सरकार फॉरेन स्टडी टूर के लिए सब्सिडी देती है. सब्सिडी के तहत सामान्य श्रेणी के किसानों को 50 फीसदी, एससी-एसटी के किसानों को 75 फीसदी और छोटे किसानों को 90 फीसदी तक सब्सिडी दी जाती है. सब्सिडी के इस खेल में कुछ किसान तो ऐसे हैं जो कई साल से आवेदन करने के बाद भी विदेश टूर जाने का सपना संजोकर ही रह गए,

ऐसा नहीं है कि किसानों के नाम पर बीजेपी नेताओं या उनके करीबियों को विदेश दौरे कराने की तैयारी है. इससे पहले साल 2016 में हॉर्टीकल्चर मिनिस्टर सूर्यप्रकाश मीणा ने अपने बेटे देवेश और भतीजे कृष्णा सहित विदिशा से ही मंत्री के दो और करीबी को किसानों के नाम पर हॉलेंड टूर करवाया.


Reference: https://hindi.news18.com/news/madhya-pradesh/bhopal-instead-of-farmers-mp-bjp-leaders-go-go-abroad-to-learn-advance-farming-1251054.html

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *