सरकार की अनदेखी के चलते प्रदूषण का शिकार हो रही है नर्मदा नदी

मध्य प्रदेश की जीवनदायनी नर्मदा आज सरकारी अनदेखी के चलते प्रदूषण का शिकार हो रही है. नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान नर्मदा संरक्षण के दावे तो कई किए गए पर यात्रा के एक साल बाद भी हालात वैसे ही बने हुए हैं.

ETV MP/Chhattisgarh Updated: January 22, 2018, 7:27 PM IST

मध्य प्रदेश की जीवनदायनी नर्मदा आज सरकारी अनदेखी के चलते प्रदूषण का शिकार हो रही है. नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान नर्मदा संरक्षण के दावे तो कई किए गए पर यात्रा के एक साल बाद भी हालात वैसे ही बने हुए हैं. हरदा में नर्मदा तट पर आने वाले श्रृद्वालू घाटों पर फैली गंदगी और अव्यवस्था से परेशान हैं. उनका कहना है की नर्मदा को सहेजने के लिए ठोस कदम नहीं उठाए गए तो करोड़ों लोगों की आस्था की केंद्र नर्मदा का अस्तित्त्व खत्म हो जाएगा.

प्रदेश की जीवनरेखा कही जाने वाली नर्मदा नदी आज अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रही है. कुल 1312 किलोमीटर लंबी नर्मदा के लगातार दोहन से उसके अस्तित्व पर खतरा मंडरा रहा है. जल प्रदूषण के कारण आज नर्मदा में रहने वाली 28 जलीय प्रजातियों का अस्तित्व समाप्त हो चुका है.

हरदा और देवास जिले को जोड़ती नर्मदा नदी के किनारों पर बने घाटों पर पसरी गंदगी उन दावों पर सवालिया निशान लगाती है जो यह कहते है की नर्मदा के सरंक्षण के कार्य हो रहे हैं. हरदा में नर्मदा किनारो पर फैली पूजन सामग्री और कचरा नदी के पानी को प्रदूषित कर रहे हैं. घाटों पर महिलाओ के लिए बने चेंजिंग रूम के दरवाजे तक टूटे पड़े हैं.


Reference: https://hindi.news18.com/news/madhya-pradesh/harda-narmada-river-has-now-synonym-of-pollution-1243418.html

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *