मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना फर्जीवाड़ा: सरकारी अमले ने ही ब्लैक करने के लिए सरगना को दिए थे ट्रेन के टिकट

suresh mishra | Publish: Jul, 11 2018 12:37:46 PM (IST)                                                      Satna, Madhya Pradesh, India

कलेक्टर को सौंपी जांच रिपोर्ट में खुलासा

सतना। मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना के तहत सतना से तिरुपति जाने वाली ट्रेन के टिकट काफी संख्या में ब्लैक किए गए। 190 वास्तविक यात्रियों में से 40 टिकट ब्लैक के थे। उसमें हितग्राहियों की टिकट पर अपात्र लोग अपनी फोटो लगाकर यात्रा कर रहे थे। टिकट ब्लैक करने और अपात्रों को टिकट देने के मामले में खुलासा हुआ है कि अमरपाटन का कोई राकेश गौतम मुख्य सरगना है।

उन्हें राजस्व अमले द्वारा हितग्राहियों के टिकट दे दिए जाते हैं। फिर गौतम इन टिकटों को ब्लैक करता है। इतना ही नहीं पात्र हितग्राहियों से भी पैसे लेकर टिकट दिए जाते हैं। यह खुलासा कलेक्टर को सौंपी फर्जीवाड़े की रिपोर्ट से हुआ है। अब गेंद कलेक्टर के पाले में है।

ये है मामला
कलेक्टर को सौंपी रिपोर्ट में बताया गया कि मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन स्पेशल ट्रेन में चयनित 264 यात्रियों में से 190 यात्री 27 जून को कोच क्रमांक एस 1 से एस 4 में बैठकर यात्रा शुरू किये। यात्रा शुरू होते ही यात्रा प्रभारी सहित अनुरक्षकों ने यात्रियों के टिकट एवं आधार कार्ड व समग्र आईडी का मिलान चस्पा फोटो से किया। इसमें 40 यात्री फर्जी टिकट लेकर उसमें अपनी फोटो चिपका कर यात्रा करते हुए पाए गए। इस पर 24 यात्रियों के टिकट जब्त की गई एवं 16 यात्री अपने टिकट आईडी लेकर बीच में कहीं उतर गए। अन्य अपात्र यात्रियों को मैहर और कटनी स्टेशन में उतारा गया।

ये थे फर्जी यात्री
जिन फर्जी यात्रियों की टिकट जब्त की गई उनके नाम क्रमश: कलावती गौतम रामपुर बाघेलान, बड़ी बइया अमरपाटन, मानवती सिंह कुर्मी ताला, शिवकली सिंह ताला, प्रतिमा मिश्रा ककलपुर, दुअसिया मिश्रा व गया प्रसाद तिवारी झिन्ना सहित अमरपाटन से कोदूलाल विश्वकर्मा, रामबाई विश्वकर्मा, दुअसिया कोल, भीषमपुर से सिया दुलारी कोल, चोरखरी से सती पटेल, अमरपाटन से रामजी मिश्रा, विपिन बिहारी विश्वकर्मा, गायत्री विश्वकर्मा, संगीता विश्वकर्मा, रामखेलावन विश्वकर्मा, श्यामकली विश्वकर्मा, कलावती विश्वकर्मा, रामनगर से तेजभान, रामबाई कचेर, सतना से गणेश प्रसाद गर्ग, अजय सोनी व भामा गुप्ता शामिल है।

पात्र यात्रियों से भी वसूले रुपए
एक ओर मुख्यमंत्री मुफ्त में तीर्थ दर्शन यात्रा करवा रहे हैं वहीं दूसरी ओर यहां के दलाल पात्र यात्रियों से भी टिकट के पैसे वसूल रहे हैं। अमरपाटन तहसील के 6 यात्रियों ने बताया है कि अमरपाटन के राकेश गौतम वकील ने पात्र होने के बाद भी 500 से 1500 रुपये लेकर टिकट दी थी। जिन्होंने राकेश द्वारा पैसा लेना बताया गया है उनके नाम सौखीलाल मिश्रा, बसंती तिवारी, शशि मिश्रा, रानी मिश्रा शामिल है।

2000 में तहसील स्टाफ ने बेची टिकट
जांच में पाया गया कि तहसील स्टाफ के टिकट बांटने वाले कर्मचारियों ने 2000 रुपए तक लेकर टिकट एवं उस टिकट के वास्तविक यात्रियों के परिचय पत्र व आधार कार्ड की छायाप्रति बेची। इसके साथ ही इन्हें सतना स्टेशन में ट्रेन में बैठाया।

इनकी टिकट दूसरे को दी
भाईलाल सोनी ने शपथ पत्र में बताया कि राकेश ने आधार कार्ड लेकर स्वयं फार्म भर टिकट दूसरे को उपलब्ध करवा दिया। रामकिशोर ने बताया कि अमरपाटन का कर्मचारी राकेश से टिकट बंटवा रहा था।

यह गंभीर मामला है। इससे सरकारी योजना की छवि धूमिल हो रही है। इस मामले में दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।
मुकेश शुक्ला, कलेक्टर


Reference: https://www.patrika.com/satna-news/mukhyamantri-teerth-darshan-yojna-forgery-news-in-satna-3084329/

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *