मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में नाबालिग, शादीशुदा व गर्भवती महिलाओं की हुई शादियां

“नगर पालिका में संपन्न हुईं शादियां चढ़ गई दलालों की भेंट”

मुरसलीम खान

छतरपुर। मप्र में सूखा से परेशान किसान दाने-दाने को मोहताज हैं। छतरपुर जिले में गरीबों को मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत होने वाली शादियों में दलाली के चलन से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा पर पानी फिर रहा है। गरीबों को शासन की सुविधा का लाभ न मिलकर अपात्रों को लाभ मिल रहा है। अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं जिससे दलाल शादीशुदा जोड़ों, गर्भवती महिलाओं व नाबालिगों की शादी करा रहे हैं। बुधवार को नगर पालिका में संपन्न हुई शादियों में इस तरह के कई मामले सामने आए। फिर भी अधिकारी ध्यान नहीं दिया।

अक्षय तृतीय के दिन बुधवार को नगर पालिका छतरपुर द्वारा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत करायी गई गरीब कन्याओं की शादियां दलाली की भेंट चढ़ गई। वैसे तो नगर पालिका के द्वारा 511 जोड़ों के विवाह संपन्न कराए गए। जिसमें नगर पालिका के द्वारा कुछ नाबालिग और कुछ गर्भवती के विवाह तक करा दिए गए। कई ऐसे जोड़ भी सामने आए जो पहले से शादीशुदा थे और महिलाएं गर्भवती थीं। प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान के द्वारा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना अंतर्गत प्रदेश की गरीब बेटियों की शादी कराने का जिम्मा सरकार लेती है, लेकिन गरीब निर्धन कन्याओं को इसका लाभ तो नहीं मिल पाता, बल्कि इसका लाभ आपात्र लोग उठा रहे हैं।

योजना में शादी के नाम पर मिलने वाले उपहार की लालच में आपात्र लोग मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के फारम भरकर उसका लाभ उठा रहे हैं। जहां एक तरफ गरीब पिता अपनी बेटी की शादी के लिए योजना में शामिल होने के चक्कर लगाता है। वहीं आपात्र चंद पैसों की दम पर दलालों के माध्यम से शादीशुदा होने के बाद भी अपना पंजीयन करा लेते हैं। शादी में मिलने वाले उपहारों के लिए दोबारा शादियां की जा रही हैं। ऐसे कुछ मामले बुधवार को नगर पालिका छतरपुर में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना की शादियों में देखने को मिलीं। जिसमें एक 17 साल की नाबालिक लड़की की शादी करा दी गई। ये शादी प्रशासन, जनप्रतिनिधि व पालिका के कर्मचारियों के सामने हुई। इसके अलावा एक शादीशुदा जोड़े की भी शादी कराई गई। जिस शादीशुदा जोड़े की शादी हुई वो महिला से पहले ही गर्भवती थी। सम्मेलन में शादी कराने के लिए आए ग्राम बाजना के कचारी निवासी अजय अहिरवार ने बताया कि उसकी शादी पहले फरवरी में हो चुकी है। उसने बताया कि मुझे कुछ नहीं पता। एजेंट ने फार्म भरवाया और मेरे पिता द्वारा एजेंट को पैसे दिए गए। मैं ज्यादा कुछ नहीं जानता और एजेंट का नाम नहीं मामूल। अजय की पत्नी रानी अहिरवार से जब उसकी शादी के बारे में पूछा गया तो रानी अहिरवार ने बताया कि उसकी शादी फरवरी 2017 में हो चुकी है और वह गर्भवती भी है। इसी तरह ग्राम धमौरा के सुरेश कुम्हार अपनी पत्नी पलेरा निवासी संध्या के साथ यहां पर दोबारा से शादी करने पहुंचा। सुरेश की शादी एक साल पहले ही हो चुकी थी। ऐसे कई जोड़े थे, जिन्होंने कुछ दलालों की आड़ में दोबारा शादी कर ली और सरकारी योजना का लाभ लेकर चले गए।

नगर पालिका की लापरवाही :

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत होने वाली शादियों में नगर पालिका भी पूरी तरह से लापरवाही नजर आ रही है। जिस कारण शासन की योजना को पलीता लग रहा है। यही वजह है कि आपात्रों को इस योजना का लाभ मिल रहा है। पंजीयन के बाद अगर नगर पालिका द्वारा भौतिक सत्यापन पर ध्यान दिया जाता और शादीशुदा लोगों की जांच पड़ताल की जाती तो पात्रों के ही विवाह संपन्न होते। बैसे तो नगर पालिका द्वारा 511 शादियां कराई गईं लेकिन इनमें गरीब कन्याओं के हिस्से का लाभ कई शादीशुदा जोड़ों उठाकर चले गए।

दलालों से होती है सेटिंग :

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत होने वाली शादियों में दलाली प्रथा चल रही है। अपात्रों के फार्म भरवाने का काम दलाल करते हैं। जिसमें नगर पालिका के कर्मचारियों की भी मिलीभगत रहती है। ये दलाल मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत फार्म भरना शुरू होते ही गांव-गांव जाकर संपर्क करते हैं और शादी में मिलने वाले दहेज की बातें बताते हैं। कहते हैं कि ऐसी शादी कराने से दान दहेज भी मिलता है और लोगों से पैसा भी जमा करा लेते हैं। इसके बाद पालिका में पहुंचकर सेटिंग जमा लेते हैं। जिससे इस तरह के विवाह भी संपन्न हो जाते हैं।

करेंगे कार्रवाई :

जब इस संबंध में नगर पालिका के सीएमओ हरिहर गंधर्व से बात की तो उन्होंने बताया की नगर पालिका द्वारा लगभग 511 जोड़ों का विवाह किया गया। जिनको लगभग 25000 की सामग्री शासन के द्वारा मुहैया कराई गई। लेकिन जब उनसे पहले से शादीशुदा एक जोड़े की दोबारा शादी का सवाल पूछा तो उनके होश फाख्ता हो गए और उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसी किसी शादी के बारे में कोई जानकारी नहीं है,अगर ऐसा कोई जोड़ा है और इस प्रकार से शादी की गई है तो निश्चित तौर पर कार्यवाही की जाएगी।


Reference: https://www.patrika.com/chhatarpur-news/chief-minister-kanyadan-yojana-minor-pregnant-women-weddings-1-2677414/

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *